हनीट्रैप में फंसा सेना का जवान, 2 साल से पाकिस्तानी महिला एजेंट से था संपर्क में

हनीट्रैप में फंसा सेना का जवान, 2 साल से पाकिस्तानी महिला एजेंट से था संपर्क में

पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसियों को भारत और सेना से जुड़े महत्त्वपूर्ण जानकारी देने के मामले में एक जवान का खुलासा हुआ है। भारतीय सेना से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी की जासूसी करने वाले सैन्यकर्मी शांतिमोय राणा से गंभीरता से पूछताछ की जा रही है। जयपुर इंटेलीजेंस यूनिट में डिप्टी एसपी हरिचरण मीणा की अगुवाई में जासूस शांतिमोय की कोर्ट में पेशी हुई। जिसेक बाद उसे 29 जुलाई तक उसे रिमांड पर भेज दिया गया है। बता दें प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया है कि पिछले करीब 2 साल से गिरफ्तार शांतिमोय राणा पाकिस्तानी महिला एजेंटों के संपर्क में था। दोनों युवतियों ने अपना नाम बदलकर उत्तर प्रदेश में रहना बताया। साथ ही, खुद को मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस और मिलिट्री नर्सिंग सर्विस में होने का विश्वास दिलाया था।

जिसके बाद जवान को हनीट्रेप में फंसाया और पैसों का लालच दिया गया। उसके बाद झूठे अफेयर का झांसा दिया और राजस्थान में भारतीय सेना के युद्धाभ्यास और अन्य गोपनीय जानकारी सोशल मीडिया के मदद से ले की। इतना ही नहीं महिला एजेंट ने शांतिमोय के खाते में पैसे भी ट्रांसफर करवाए। इतना ही नहीं यह महिलाएं जवान से वीडियो कॉल पर बातें किया करती थी।

जयपुर इंटेलीजेंस की यूनिट फिलहाल शांतिमोय से गहनता से पूछताछ कर रही है। जवान का मोबाइल फोन भी जब्त कर लिया गया है। फिलहाल ये भी जानकारी आई है कि मोबाइल से डेटा सफलतापूर्वक डिलीट कर दिया गया है।

साथ ही एक्सपर्टस की मदद से इंटेलीजेंस टीम गहन अनुसंधान कर रही है। अनुसंधान से काफी हद्द तक जानकारियां हासिल की जा सकती हैं। जिससे पता चलें की हनीट्रैपमें फंसा कर पाकितानी एजेंटों ने जवान से क्या कुछ जानकारियां हासिल की है।
सच तक से आकांक्षा की रिपोर्ट

 

Leave a Comment